Shramik Kalyan Yojna UP: यूपी श्रमिक पंजीयन योजना 2021, ऐसे करें श्रमिक कार्ड के लिए ऑनलाइन अप्लाई

दोस्तों केंद्र और राज्य सरकारें गरीब और मजदूर वर्ग के लिए कई कल्याणकारी योजनाएं चला रही है. मगर आमजन को सरकार द्वारा चलाई जा रही योजनाओं की पूरी जानकारी हासिल नहीं होने के कारण इनका फायदा उन तक पहुंच ही नहीं पाता है. ऐसे में एजुकेशन इंडिया टीम समय-समय पर तमाम सरकारी योजनाओं की संपूर्ण जानकारी देश के आमजन तक पहुंचाने का पूरा प्रयास करती आ रही है, ताकि देश का हर नागरिक सरकारी योजनाओं की जानकारी पाकर उसका पूरा फायदा उठा सकें.

तो आज के इस आर्टिकल में हम आपको बताने जा रहे उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा चलाई जा रही श्रमिक पंजीयन योजना के बारे में. इस आर्टिकल में यूपी सरकार की श्रमिक पंजीयन योजना क्या है? श्रमिक पंजीयन कैसे होता है? श्रमिक कार्ड योजना क्या है? इस योजना का लाभ कौन ले सकता है. श्रमिक कार्ड से कैसे लाभ मिलता है? श्रमिक कार्ड के क्या फायदे हैं? श्रमिक पंजीकरण कैसे होता है? श्रमिक पंजीकरण के लिए क्या दस्तावेज चाहिए? श्रमिक कार्ड कैसे बनता है?  श्रमिक कार्ड बनाने की प्रक्रिया क्या है? आदि संपूर्ण जानकारी मिलेगी. इसलिए आप इस आर्टिकल को ध्यानपूर्वक अंत तक जरुर पढ़ें.

आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा मजदूर एवं श्रमिक वर्ग के लिए श्रमिक योजना चलाई जा रही है. इस योजना का लाभ लेने के लिए सबसे पहले आपको अपना पंजीकरण करवाना होगा. उसके बाद में आपका श्रमिक कार्ड बन जाएगा. इस श्रमिक कार्ड से आपको सरकार द्वारा आपके बच्चों की शिक्षा, विवाह, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, आवास सहायता, पेंशन आदि कई कार्यों में आर्थिक सहायता समय-समय पर मुहैया करवाई जाएगी.

श्रमिक पंजीयन यानी रजिस्ट्रेशन आप घर बैठे ऑनलाइन कर सकते हैं. उत्तर प्रदेश का हर मजदूर/श्रमिक इस योजना का फायदा ले सकता है. इसके लिए बस शर्त एक ही कि आपकी उम्र 18 से 60 वर्ष के बीच होनी जरूरी है. साथ ही आपके द्वारा पंजीयन तिथि से पूर्व किसी भी निर्माण कार्य में एक साल में 90 दिन का मजदूर के रूप में काम किया होना चाहिए.

श्रमिक योजना चलाने का उद्देश्य-

उत्तर प्रदेश सरकार ने राज्य के प्रत्येक मजदूर एवं श्रमिक जोकि अत्यंत गरीब व शोषित वर्ग से हैं, उनकी कार्यदशाओं में सुधार लाने के लिए यह योजना चला रखी है. यूपी सरकार का इस योजना को चलाने के पीछे एक ही मकसद है कि उन्हें सरकार की विभिन्न आर्थिक सहायता योजनाओं के माध्यम से अधिकतम लाभान्वित किया जाए. ताकि प्रदेश के मजदूर तबके के लोगों को अपने बच्चों की शिक्षा, विवाह आदि कार्यों में आर्थिक सहयोग मिल सकें.

श्रमिक पंजीयन के लिए आवश्यक दस्तावेज-

श्रमिक कार्ड के लिए पंजीयन करते वक्त आवेदन के साथ अभ्यर्थी को नियोजन प्रमाण पत्र/स्वघोषणा पत्र, आधार कार्ड की फोटोप्रति, 2 पासपोर्ट साइज फोटो, बैंक खाता की पासबुक के साथ निर्माण श्रमिक के रूप में गत 12 महीनों में 90 दिनों तक किए कार्य का प्रमाण पत्र देना होगा. इसके आलावा उत्तर प्रदेश का स्थाई निवास का प्रमाण देने के लिए परिचय पत्र यानी वोटर आईडी या फिर मूलनिवासी प्रमाण पत्र और पेन कार्ड की फोटो प्रति भी आवेदन के साथ अटैच (संलग्न) करनी होगी.

पंजीकृत श्रमिक को सरकारी लाभ-
  • मातृत्व एवं शिशु योजना के तहत पंजीकृत महिला श्रमिक  के पुत्र होने पर एकमुश्त 20,000 रुपए तथा पुत्री होने पर 25,000 रुपए आर्थिक सहायता मिलती है.
  • सौर उर्जा सहायता योजना के तहत पंजीकृत निर्माण श्रमिक के स्थायी आवास पर 2 एलईडी बल्ब, 1 डीसी टेबल फैन, 1 सोजर पैनल, चार्जिंग कन्ट्रोलर, 1 मोबाइल चार्जर स्थापित किया जाता है.
  • कन्या विवाह अनुदान योजना के अंतर्गत पंजीकृत श्रमिक की पुत्रियों के विवाह के लिए 55-55 हजार रुपए की अनुदान राशि दी जाती है. वहीं पंजीकृत महिला श्रमिक के स्वयं के विवाह के लिए भी 55,000 रुपए तथा अंर्तजातीय विवाह की स्थिति में 61,000 रुपए की अनुदान धनराशि प्रदान की जाती है.
  • आवास योजना के तहत पंजीकृत श्रमिक को आवास निर्माण या खरीदने के लिए 1,00,000 रुपए की धनराशि आर्थिक सहायता के रूप में मिलती है. वहीं पूर्व में बने आवास की मरम्मत के लिए 15,000 रुपए की धनराशि मुहैया करवाई जाती है.
  • शौचालय सहायता योजना के तहत पंजीकृत श्रमिक को शौचालय निर्माण के लिए 12000 रुपए की आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है.
  • चिकित्सा सुविधा योजना के अन्तर्गत विवाहित निर्माण श्रमिक को प्रत्येक वर्ष 3000 रुपए तथा अविवाहित निर्माण श्रमिक को 2000 रुपए की धनराशि उसके बैंक खाते में सीधे जमा करवाई जाती है.
  • मेधावी छात्र पुरस्कार योजना के तहत पंजीकृत श्रमिकों के पुत्र-पुत्रियों को कक्षा 5 से 7 में 70 फीसदी अंक हासिल करने पर 4000 से 4500 रुपए प्रतिवर्ष धनराशि प्रदान की जाती है. इसी प्रकार कक्षा 8 में 70 फीसदी अंक अर्जित करने पर 5000 से 5500 रुपए धनराशि प्रदान की जाती है. वहीं कक्षा 9 और 10 में 60 प्रतिशत अंकों के साथ पास होने पर पुत्र को 5000 रुपए और पुत्री को 5500 रुपए धनराशि प्रति वर्ष पुरस्कार के रूप में मिलती है.
  • इसके आलावा आईटीआई और कक्षा 11-12 में 60 फीसदी के साथ पास होने पर पुत्र को प्रति वर्ष 8-8 हजार रुपए और पुत्री को 10-10 हजार रुपए पुरस्कार के रूप में दिए जाते हैं.
  • बी.ए, बी.कॉम और बी.एस.सी. में 60 फीसदी अंक लाने पर पुत्र को 10,000 रुपए और पुत्री को 12,000 रुपए की राशि पुरस्कार के रूप में मिलती है.
  • एम.ए.,एम.कॉम और एम.एस.सी तथा एल.एल.बी. में 60 फीसदी अंक हासिल करने पर पुत्र को 12,000 रुपए और पुत्री को 13,000 रुपए की राशि पुरस्कार के रूप में दी जाती है.
  • इंजीनियरिंग या चिकित्सा की डिग्री लेने पर पंजीकृत श्रमिक के पुत्र को 20,000 रुपए और पुत्री को 22,000 रुपए की धनराशि मिलती है.
ये कार्य करने वाले व्यक्ति कर सकते श्रमिक कार्ड के लिए अप्लाई-
  • बेल्डिंग का कार्य
  • बढ़ई का कार्य
  • कुआं खोदने का कार्य
  • जमीन या सड़क समतल के लिए रोलर चलाने का कार्य
  • छप्पर डालने का कार्य, राजमिस्त्री का कार्य
  • प्लम्बरिंग का कार्य
  • लोहार का कार्य
  • मोजैक पॉलिश करने वाले
  • सड़क बनाने का कार्य करने वाले
  • मिक्सर चलाने वाले
  • मकानों की पुताई का कार्य करने वाले
  • इलेक्ट्रिक का कार्य करने वाले
  • हथौड़ा चलाने का कार्य, सुरंग निर्माण का कार्य
  • टाइल्स लगाने का कार्य, कुएं से तलछट हटाने का कार्य
  • चट्टान तोड़ने का कार्य या खनिजों में कार्य करने वाले
  • वर्क-सड़क निर्माण से सम्बन्धित स्प्रे या मिक्सिंग का करने वाले
  • मार्बल एवं स्टोन का कार्य करने वाले
  • चैकीदारी- निर्माण स्थल पर सुरक्षा प्रदान करने का कार्य करने वाले
  • सभी प्रकार के पत्थर, तोड़ने व पीसने का कार्य करने वाले
  • निर्माण स्थल पर लिपिकीय व लेखा कार्य करने वाले
  • सीमेन्ट, कंकरीट, ईंट ढोने का कार्य
  • बांध, पुल, सड़क निर्माण या भवन निर्माण से सम्बन्धित कार्य
  • बाढ़ प्रबन्धन का कार्य करने वाले
  • ठंडा व गरम मशीनरी की स्थापना व मरम्मत करने वाले
  • अग्निशमन प्रणाली की स्थापना व मरम्मत करने वाले
  • बड़े यांत्रिक कार्य- मशीनरी, पुल का निर्माण का कार्य
  • मकानों/भवनों की आन्तरिक साज-सज्जा का कार्य करने वाले
  • खिड़की, ग्रिल, दरवाजे आदि की गढ़ाई व स्थापना का कार्य करने वाले
  • माड्यूलर किचन की स्थापना करने वाले
  • सामुदायिक पार्क या फुटपाथ निर्माण कार्य करने वाले
  • ईंट भट्ठों पर ईट निर्माण कार्य करने वाले
  • मिट्टी, बालू, मौरंग खनन कार्य करने वाले
  • सुरक्षा द्वार व अन्य उपकरणों की स्थापना का कार्य करने वाले
  • लिफ्ट व स्वचालित सीढी की स्थापना का कार्य करने वाले
  • सीमेन्ट, ईंट आदि ढोने का कार्य करने वाले
  • मिट्टी का काम और चूना बनाने वाले
यूपी श्रमिक पंजीकरण विवरण-
कुल पंजीकृत  श्रमिक97.03 लाख
वर्ष 2021-22 में पंजीकृत श्रमिक23,000
कुल नवीनीकृत श्रमिक66.16 लाख
वर्ष 2021-22 में कुल नवीनीकृत श्रमिक1.21 लाख
ऑनलाइन श्रमिक पंजीकरण प्रक्रिया-

>> श्रमिक रजिस्ट्रेशन के लिए सबसे पहले आवेदक को श्रम विभाग की अधिकारिक वेबसाइट-http://www.uplabour.gov.in/ पर जाना होगा. जहां वेबसाइट का होम पेज ओपन हो जाने पर ‘अधिनियम प्रबंधन प्रणाली’ (Online Registration and Renewal) का ऑप्शन दिखाई देगा. जिस पर क्लिक करना है.

>> अब आपके सामने Labour Act Management System वेबसाइट ओपन हो जाएगी. जिसमें अपनी भाषा इंग्लिश/हिंदी का चयन करके यहां दिए निर्देशों को अच्छी तरीके से पढ़कर पोर्टल के उपयोग हेतु सदस्यता प्राप्त करनी होगी.

>> अब यदि आप नए यूजर हैं तो ‘Register Now’ के ऑप्शन पर क्लिक करें. तत्पश्चात ‘New Registration’ पर क्लिक करें. जिसके बाद दिए गए फॉर्म में अपना विवरण भरें तथा यूजर-आईडी (User Name) और पासवर्ड (Password) बनाएं.

>> फिर आपको अपना अकाउंट लोग-इन करने के लिए यूजर-आईडी (उपयोगकर्ता नाम) और पासवर्ड डालना होगा. जिसके बाद आप इस पोर्टल के अधिनियमों के अंतर्गत पंजीयन, नवीनीकरण, वार्षिक रिटर्न, निरिक्षण रिपोर्ट इत्यादि के लिए उपयोग कर सकते हैं.

>> अब आपको सर्वप्रथम एक्ट (Act) का चयन करना है और इसके बाद ‘पंजीयन’ (Registration) के ऑप्शन पर क्लिक करना है.

>> अब दिया गया निर्देश पढ़ें और ‘I have read all instructions carefully’ पर टिक करके. ‘AGREE’ के ऑप्शन  पर क्लिक कर देना है.

>> जिसके बाद में आपके सामने खुले फॉर्म में पूछी गई सारी जानकारी भरकर इसे सेव कर देना है.

>> सेव किए गए फॉर्म को दुबारा देखने या फिर इसमें त्रुटि (गलती) सुधारने के लिए आपको ‘सुरक्षित आवेदन’ (View Application) के ऑप्शन पर क्लिक करना होगा.

>> अब आवेदन के साथ मांगे गए आवश्यक दस्तावेजों को अटैच करने के लिए ‘संलग्नक’ (Upload Attachments) के ऑप्शन पर क्लिक करें और CHOOSE FILE पर जाकर दस्तावेज अपलोड (Attachment) कर दें.

>> इसके बाद आवेदन फीस के लिए ‘भुगतान’ (Payment) के ऑप्शन पर क्लिक करें और आवेदन संख्या (APPLICATION NO.) डालकर भुगतान प्रकार (Payment Mode) का चयन करें. जिसमें भुगतान के दो प्रकार (Payment Mode) बताए गए है- चालान और ऑनलाइन.  यदि आपको चालान के माध्यम से भुगतान करना है तो चालान फॉर्म डाउनलोड करके सम्बंधित जिले की ट्रेजरी बैंक में जमा करवा सकते है.

>> यदि आप ऑनलाइन भुगतान करना चाहते हो तो ‘Online Mode’ को सेलेक्ट करना होगा. जहां आप राजकोष की वेबसाइट पर चले जाएंगे. यहां ‘pay without registration’ के ऑप्शन पर क्लिक करें. अब डिपार्टमेंट (SRV-श्रम तथा रोजगार विभाग, उत्तर प्रदेश) को सेलेक्ट करके Division के कॉलम में सम्बंधित क्षेत्रीय कार्यालय का नाम भरें और उसके बाद Select Treasury के विकल्प पर क्लिक करके सम्बंधित जनपद की Treasury का चयन करना है. जिसमें depositor name के कॉलम में फर्म का नाम भरकर सावधानीपूर्वक सम्बंधित अधिनियम के हेड का चयन करने के बाद शुल्क अंकित करें.

>> भुगतान करने के पश्चात आवेदन पत्र में चालान नंबर, दिनांक, बैंक का नाम अंकित कर लें और फाइनल सबमिट कर देंवे. इसके साथ ही आपका आवेदन (APPLICATION) सम्बंधित उप श्रमायुक्त के पास प्रेषित हो जाएगी.

श्रमिक पंजीयन से इन योजनाओं का मिलेगा फायदा-
  • मातृत्व, शिशु एवं बालिका मदद योजना
  • संत रविदास शिक्षा सहायता योजना
  • मेधावी छात्र पुरस्कार योजना
  • आवासीय विद्यालय योजना
  • कौशल विकास, तकनीकी उन्नयन एवं प्रमाणन योजना
  • सौर उर्जा सहायता योजना
  • पुत्री विवाह अनुदान योजना
  • आवास सहायता योजना
  • शौचालय सहायता योजना
  • चिकित्सा सुविधा योजना
  • आपदा राहत सहायता योजना
  • महात्मा गांधी पेंशन योजना
  • गंभीर बीमारी सहायता योजना
  • निर्माण कामगार मृत्यु एवं विकलांगता सहायता योजना
  • अक्षमता पेंशन योजना
  • निर्माण कामगार अन्त्येष्टि सहायता योजना
  • पंडित दीनदयाल उपाध्याय चेतना योजना
  • औजार क्रय सहायता योजना
  • दुर्घटना सहायता योजना
  • साईकिल वितरण योजना
  • एंबुलेंस सहायता योजना
सरकारी योजनाएं, पात्रता और लाभ-

नीचे दिए लिंक पर क्लिक करके पढ़े ये खबरें भी –

केंद्र और राज्य सरकारों की जनकल्याणकारी योजनाओं से जुड़ी ऐसी ही जानकारी आगे भी पाना चाहते हो तो साइड में आ रहे बेल आइकन को दबाएं और इस खबर को ज्यादा से ज्यादा अपने मित्रों के पास शेयर करें ताकि उन्हें भी यह जानकारी मिल जाए.

Share to Your Friends Also

Leave a Comment