Ganatantra Divas Per Bhashan 2022 : विद्यार्थियों के लिए सबसे टॉप भाषण-26 जनवरी गणतंत्र दिवस पर, Ganatantra Divas Per Speech Hindi Mein, Student Ke Liye

गणतंत्र दिवस पर स्पीच हिंदी में | गणतंत्र दिवस पर भाषण हिंदी में लिखा हुआ | 26 जनवरी पर भाषण हिंदी में लिखा हुआ | 26 january 2022 republic day speech in hindi | 26 january republic day speech in hindi for students | 26 january republic day speech 2022 | 26 january 2022 ke liye bhashan |

Ganatantra Divas Per Bhashan Bacchon Ke Liye : 26 जनवरी गणतंत्र दिवस के अवसर पर स्कूल-कॉलेज हो या कार्यालय सभी जगहों पर लोग तिरंगा झंडा फहराते हैं और भाषण, कविता आदि बोलते हैं. यदि दोस्तों आप भी गणतंत्र दिवस पर अपनी स्कूल-कॉलेज या कार्यालय में भाषण बोलना चाहते हो तो हमारा ये आर्टिकल आपके काम आ सकता है. इसलिए आप इसे अंत तक जरूर पढें.

मंच पर विराजमान अतिथि महोदय, आदरणीय प्रधानाचार्य जी, यहां उपस्थित अभिभावकगणों और मेरे समस्त गुरुजनों व मेरे प्यारे सहपाठियों आप सभी को मेरी तरफ से सुप्रभात.

मेरा नाम ……… है. मैं कक्षा …… में पढता हूं. मैं आज इस खास अवसर पर आप सभी को भारत के गणतंत्र दिवस के बारे में कुछ महत्वपूर्ण बातें बताना चाहता/चाहती हूं सबसे पहले तो मैं प्रधानाचार्य जी और मेरे सभी शिक्षकगणों का आभार प्रकट करना चाहूंगा/चाहूंगी, जिन्होंने मुझे इस महान अवसर पर आपके सामने गणतंत्र दिवस के बारे में कुछ शब्द बोलने का मौका जो दिया.

आज हम सभी अपने भारत देश का 73वां गणतंत्र दिवस मनाने जा रहे. गणतंत्र दिवस भारत देश का एक राष्ट्रीय पर्व है जो प्रति वर्ष 26 जनवरी को मनाया जाता है. 26 जनवरी का यह दिन हम सभी लिए बहुत ही महत्वपूर्ण और गौरवशाली दिन है. क्योंकि सन 1950 में आज ही के दिन भारत सरकार अधिनियम (एक्ट) (1935) को हटाकर भारत का संविधान लागू किया गया था.

हमारे भारत देश को अंग्रेजों से आजादी भले ही 15 अगस्त 1947 को मिली, लेकिन भारत को पूर्ण गणराज्य का दर्जा आज ही के दिन 26 जनवरी 1950 को मिला था. इसी दिन को पूरा भारत गणतंत्र दिवस के रूप में मनाता है. भारत का संविधान सन 1949 में 26 नवंबर को पूरी तरह तैयार हो चुका था, लेकिन दो महीने इंतजार करने के बाद इसे सन 1950 में 26 जनवरी को लागू किया गया. संविधान लागू करने के लिए 26 जनवरी की तारीख को इसलिए चुना गया, क्योंकि सन 1930 में 26 जनवरी को देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के नेतृत्व में इंडियन नेशनल कांग्रेस ने अंग्रेजी हुकूमत के खिलाफ ‘पूर्ण स्वराज’ का ऐलान किया था.

मैं अपने भाषण की अंतिम दो पंक्तियों में यह कहना चाहूंगा कि भारत एक गणतंत्र देश है और इस देश में रहने वाले नागरिकों को देश का नेतृत्व करने के लिए अपने नेता को चुनने का पूर्ण अधिकार है, फिर भी हम भारत देश में गरीबी, बेरोजगारी, निरक्षरता, अत्याचार और भ्रष्टाचार जैसी कुछ समस्याओं का सामना कर रहे हैं. इसके लिए एक चीज है जो हम सभी कर सकते हैं वह है एक दूसरे से वादा करना कि हम खुद का एक बेहतर संस्करण बनेंगे, ताकि हम इन सभी समस्याओं को हल करने और अपने देश को एक बेहतर जगह बनाने में योगदान दे सकते हैं.

मैं एक बार पुन: आपको धन्यवाद देना चाहूंगा मेरे इस भाषण को ध्यान से सुनने के लिए और आपको भी इस पावन अवसर पर बोलने का मौका देना चाहता हूं.

जय हिन्द! वन्दे मातरम!

👉🏽26 जनवरी गणतंत्र दिवस 2022 पर अन्य भाषण के लिए इस लिंक पर क्लिक करें.

👉🏽 जनवरी गणतंत्र दिवस 2022 पर भाषण हिंदी में, 26 जनवरी पर भाषण हिंदी में लिखा हुआ

👉🏽 26 जनवरी पर शानदार भाषण 2022 के लिए यहां क्लिक करें.

👉🏽 26 january 2022 ke liye bhashan, हिंदी में यहां क्लिक करके देखें

Share to Your Friends Also

Leave a Comment