बजट 2022 हाइलाइट्स: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण के बजट भाषण में ये हुई बड़ी घोषणाएं, जानिए किसको क्या मिला

Budget 2022 Highlights in Hindi :  भारत सरकार की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण आज अपना चौथा बजट पेश कर रही हैं. आईए जानते हैं बजट में किसको क्या मिला –

बजट की मुख्य बातें –

👉🏽वर्ष 2014 से हमारी सरकार गरीबी और हाशिए पर रह रहे लोगों को सशक्त बनाने में जुटी.

👉🏽 ‘कोरोना लहर से जूझ रहा है. लेकिन हमारी अर्थव्यवस्था तेजी से उभर रही है’.

👉🏽 ‘आगामी वित्त वर्ष में भारत की आर्थिक वृद्धि 9.2% रहने का अनुमान है’.

👉🏽 LIC के जल्द आईपीओ आने की उम्मीद.

👉🏽 25 साल की बुनियाद का बजट

👉🏽 60 लाख नई नौकरियां सृजित की जाएंगी.

👉🏽 5 नदियों को जोड़ा जाएगा.

👉🏽 महिलाशक्ति के लिए तीन नई योजनाएं लाई जाएंगी.

👉🏽 ई पासपोर्ट जारी किए जाएंगे.

👉🏽 डाक घरों में एटीएम की सुविधा मिलेगी.

👉🏽 नई कंपनियों के रजिस्ट्रेशन के नियमों को लेकर बदलाव किए जा रहे हैं. अब कंपनियों के रजिस्ट्रेशन तेजी से हो पाएंगे.

👉🏽 1486 कानूनों के निरस्त होने के बाद अब Ease of Doing Business 2.0 लॉन्च किया जाएगा.

👉🏽 44,605 ​​करोड़ रुपए की केन बेतवा योजना को चलाया जाएगा. इससे 9.0 लाख हेक्टेयर कृषि भूमि को सिंचाई का लाभ मिलेगा. इसके अलावा 62 लाख लोगों को पेयजल और 103 मेगावाट हाईड्रोपावर और 27 मेगावाट सोलर पावर ऊर्जा का उत्पादन होगा.

टैक्स को लेकर ये हुई घोषणाएं

– इनकम टैक्स की स्लैब में कोई बदलाव नहीं.

– आईटीआर में गड़बड़ी होने पर 2 साल तक सुधार कर सकेंगे.

– दिव्यांग के माता-पिता को टैक्स में छूट

– एनपीएस में योगदान 14% तक हो सकेगा.

– कर्मचारियों की पेंशन में टैक्स पर छूट

– स्टार्टअप को मार्च 2023 तक टैक्स इंसेंटिव

– वर्चुअल करेंसी (क्रिप्टो करेंसी) से कमाई पर लगेगा 30% टैक्स

– क्रिप्टो करंसी में घाटा होने पर भी टैक्स देना होगा

– कॉरपोरेट सरचार्ज 12% से घटाकर 7% किया जाएगा.

– तराशे और पॉलिश किए गए हीरों पर सीमा शुल्क घटाकर 5% किया जाएगा.

किसानों के लिए ये हुई घोषणाएं

एमएसपी पर रिकॉर्ड खरीददारी की जाएगी.

– साल 2023 मोटा अनाज वर्ष घोषित

– तिलहनों के उत्पादन को बढ़ाने की दिशा में काम करेगी सरकार.

– ऑर्गेनिक खेती पर सरकार का जोर.

– किसानों को डिजिटल सर्विस मिलेगी.

– सिंचाई, पेयजल सुविधाएं बढ़ाने पर जोर.

– गंगा नदी के किनारे 5 किमी चौड़े गलियारों में किसानों की जमीन पर फोकस के साथ पूरे देश में रासायनिक मुक्त प्राकृतिक खेती को बढ़ावा दिया जाएगा.

– रेलवे छोटे किसानों और उद्यमों के लिए कुशल लॉजिस्टिक्स विकसित करेगा. स्थानीय उत्पाद की सप्लाई चैन बढ़ाने के लिए ‘एक स्टेशन, एक उत्पाद’ योजना शुरू की जाएगी.

– एग्री यूनिवर्सिटी को बढ़ावा मिलेगा.

– खेती में मदद करेगा ड्रोन.

– किसानों की आय को बढ़ाने के लिए पीपीपी मोड में योजना शुरू की जाएगी.

परिवहन सुविधा में सुधार के लिए ये बड़े ऐलान

– अगले 3 साल में 400 नई पीढ़ी की वंदे भारत ट्रेनें चलाई जाएंगी.

– एक साल में 25 हजार किलोमीटर हाईवे, हाईवे विस्तार पर 20 हजार करोड़ रुपये होंगे खर्च.

– 8 नई रोपवे का निर्माण किया जाएगा.

– अगले 3 सालों में 100 PM गति शक्ति कार्गो टर्मिनल विकसित किए जाएंगे.

गरीब परिवारों को मिलेंगे पक्के आवास

केंद्रीय वित्‍त मंत्री ने कहा कि साल 2023 तक पीएम आवास योजना के तहत 80 लाख मकान बनाए जाएंगे, जिसका फायदा शहरी और ग्रामीण सभी क्षेत्रों को मिलेगा. बजट में पीएम आवास योजना के लिए 48,000 करोड़ रुपये के आवंटन की घोषण की गई.

साथ ही वित्‍त मंत्री द्वारा ‘हर घर नल योजना’ के तहत सभी घरों में पानी पहुंचाने की भारत सरकार की योजना के लिए बजट में 60 हजार करोड़ रुपए के आवंटन की घोषणा की गई.

बजट में क्या हुआ महंगा और क्या सस्ता

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने इस बजट में घोषणाओं के जरिए बताया कि कौन सी चीजें सस्ती होंगी और क्या महंगी होगी. दरअसल, उन्होंने तमाम चीजों पर कस्टम ड्यूटी, आयात शुल्क समेत तमाम शुल्क बढ़ाए और घटाए जाने की बात कही. आइए जानते हैं इन घोषणाओं के चलते क्या-क्या होगा सस्ता और महंगा.

ये होंगे सस्ते- चमड़ा, कपड़ा, खेती का सामान, पैकेजिंग के डिब्बे, मोबाइल फोन चार्जर और जेम्स एंड ज्वैलरी सस्ते होंगे. जेम्स एंड ज्वैलरी पर कस्टम ड्यूटी को घटाकर 5 फीसदी कर दिया गया है. कट और पॉलिश्ड डायमंड पर भी कस्टम ड्यूटी घटाकर 5 फीसदी कर दी गई है. एमएसएमई को मदद मुहैया कराने के लिए स्टील स्क्रैप पर कस्टम ड्यूटी छूट को 1 साल के लिए बढ़ा दिया गया है. मेंथा ऑयल पर कस्टम ड्यूटी को घटाया गया. मोबाइल फोन के चार्जर, ट्रांसफॉर्मर आदि पर कस्टम ड्यूटी में छूट दी गई है, ताकि घरेलू मैन्युफैक्टरिंग को बढ़ावा दिया जा सके.

ये होंगे महंगे- कैपिटल गुड्स पर आयात शुल्क में छूट को खत्म करते हुए 7.5 फीसदी आयात शुल्क लगा दिया गया है. इमिटेशन ज्वैलरी पर कस्टम ड्यूटी बढ़ाई गई, ताकि इसके आयात को कम किया जा सके. विदेशी छाता भी महंगा होगा. इसके अलावा इस साल अक्टूबर से बिना ब्लेंडिंग वाले फ्यूल पर 2 रुपये प्रति लीटर के हिसाब से एक्साइज ड्यूटी लगेगी.

Share to Your Friends Also

Leave a Comment